Nimbu se maran Mantra


Lemon Black Magic Killing Spells – Nimbu Maran Pryog – नींबू मारण प्रयोग

Very Strong, Strange and effective black magic spells ritual. Here you will use on lemon and pain or life will go there of your enemy without any physically connection.

Lemon Black Magic Killing Spells-

Baar Baandho, Baar Nikle |
Jaa Kaat Dharni Sujaaye |
Lay Bahrna Choun Haath Se |
To Kaat Daant Se |
Duhaai Bhaamhava Ki |

Lemon Black Magic Killing Spells Ritual-

Select the silence and pure place for this ritual. Make the seat of yellow soil. Now when the soil will dry up then set the white cotton sheet on it. Now sit on it and your face should be in the west. Use Ghee or butter lamp in front of you. You need to Offer some dishes so keep these with you. Some sweets, two cloves and lemon are required to keep during this worship. Chant this spells 108 * 21 times and then flow all things into river or in sea. Just keep lemon with you. Do this for the forty days. Now after the completion of this period, chant this spells 108 times and spelled the lemon with this spell. Take one iron nail and make half hole in the lemon, it will give high and lot of pain to enemy and if you will cross the iron nail from the lemon then your enemy will died on spot.

नींबू से मारण क्रिया कैसे की जाती है ? Death By lemon in Hindi

“मारण क्रिया” इसका नाम आपने कभी ना कभी कहीं ना कहीं जरूर सुना होगा। जैसा कि इसके नाम से ही ज्ञात होता है कि इसका अर्थ है किसी को जान से मारने के उद्देश्य से की गई क्रिया। इस क्रिया को करने के लिए व्यक्ति के पास सिद्धी होना अति आवश्यक है। बिना सिद्धी के इस क्रिया को कोई भी व्यक्ति नहीं कर सकता। मारण क्रिया अघोर तंत्र की सबसे खतरनाक क्रिया है।

इस क्रिया का गलत प्रयोग स्वयं को मौत के मुह में देने के समान है, इसलिये इसे जानकारी तक ही रखना उचित है !

जंहा तक हो सके साधक को ऐसी क्रियाओ से दूर ही रहना चाहिये , ऐसी तंत्र-मंत्र की क्रियाएं स्वयं के लिए भी कभी कभी अत्यंत घातक साबित होती है , चुकी मारण क्रिया सबसे खतरनाक क्रियाओ में से एक है इस लिए इसे बिना किसी गुरु की जानकारी के नही करना चाहिये वरन फायदे की जगह नुकसान ही हाथ लगेगा | मारण क्रिया करने से पहले इसके नियमो को अवस्य जान लेना चाहिये :

तंत्र-मंत्र, असली जादू और काले जादू के बारे में जाने Learn about real magic and black magic in hindi
दुश्मन विनाश और शत्रु दमन के लिए तंत्र और मंत्र के अचूक उपाय Enemy defeat mantra in Hindi
इस क्रिया का इस्तेमाल करके तांत्रिक या फिर कोई भी ऐसा व्यक्ति जिसने सिद्धि प्राप्त की है वह किसी की भी जीवन लीला को कभी भी समाप्त कर सकता है, अर्थात ऐसा तांत्रिक अथवा व्यक्ति किसी की भी जान आसानी से ले सकता है। इसमें सबसे बड़ी बात यह है कि तांत्रिक अथवा सिद्ध व्यक्ति को उस व्यक्ति के पास जाने की भी आवश्यकता नहीं है जिसे वह मारना चाहता है।

इसमें सारा काम दूर बैठे बैठे ही हो जाता है और जिस पर मारण क्रिया की जाती है वह व्यक्ति निश्चित दिन के अंदर मृत्यु को प्राप्त होता है।अगर पीड़ित व्यक्ति निश्चित दिन से पहले किसी पंडित, मौलवी को अपने आप को दिखा लेता है तब उसके बचने की संभावना होती है परंतु ऐसा बहुत कम ही होता है।

इस क्रिया का ज्यादातर उपयोग ऐसे व्यक्तियों द्वारा किया जाता है जो अपने किसी दुश्मन को खत्म करना चाहते हैं परंतु हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस प्रक्रिया का दुरुपयोग जहां तक हो सके वहां तक नहीं करना चाहिए।

नींबू मारण प्रयोग Death black magic by lemon

बार बांधो, बार निकले।
जा काट धारिणी सुझाए।
लय बहरना चों हाथ से।
तो काट दांत से।
दुहाई भामहवा की।

नींबू द्वारा मारण क्रिया करने के लिए एक साफ-सुथरे और एकांत स्थान पर पीली मिट्टी से चौका लगाकर उस पर सफेद चादर बिछा दे।फिर घी का दिया जलाए और पश्चिम की ओर मुंह करके आसन पर बैठ जाए।भोग लगाने के लिए अपने पास हलवा, पूरी, गांजा, मेवा, चिल्लम और इत्र तथा दो लॉन्ग रख ले।इसके बाद ऊपर दिए गए मंत्र की 21 माला आप 40 दिन तक लगातार जाप करें। एक माला में 108 जाप होता है।

लगातार 40 दिन इस मंत्र का जाप करने से यह मंत्र सिद्ध हो जाएगा। उसके बाद जब भी आपको इस मंत्र का प्रयोग करना हो तब 108 बार इस मंत्र का जाप करके नींबू को अभिमंत्रित कर ले।इसके बाद आप जब नींबू में आधी सुई चुभाएंगे तो आपके शत्रु को पीड़ा होगी और अगर आपने सुई को नींबू के आर पार कर दिया तो आप का शत्रु तुरंत ही मर जाएगा।

योग के आठ अंग, महर्षि पतंजलि का अष्टांग योग क्या है ? What is Ashtanga yoga kya hai in hindi

तांत्रिक मारण क्रिया करने से पहले जाने इन नियमो को :

अमुक की जगह “मम सर्व शत्रु” का प्रयोग करें। मारण मंत्र से उत्तपन्न हुई ऊर्जा/दैवीय शक्ति स्वयं ही आपके सभी शत्रुओं एवं विरोधियों को खोजकर समाप्त करती जाएगी।
किसी से मोटी रकम लेकर जैंसे व्यापारी राजनेता आदि से मोटा पैसा लेकर उनके शत्रुओं/प्रतिद्वंदीयों पर मारण प्रयोग न करें। ऐंसा करने से कुछ समय तक तो आप भौतिक सुख सुविधाओं से युक्त जीवन व्यतीत कर सकते हैं। पर अंत मे आपकी दुर्गति होगी। भारत मे कई बाबाओ की दुर्गति आप देख चुके हैं। जो मोटी रकम लेकर मारण प्रयोग करते थे। दुष्ट तांत्रिको का कृत्या भक्षण कर लेती है।

इस कठिन तांत्रिक साधना के अतिरिक्त कुछ सरल वैदिक उपाय और टोटके की मदद से भी शुत्र पर विजय प्राप्त किया जा सकता है।

बजरंगबली की आराधनाः दुश्मन को परास्त करने वाले बजरंग बली की असाधारण ताकत से कौन परिचित नहीं है। उनकी नियमित आराधना और हनुमान वाण का नियमित पाठ करने से शत्रु के हानिकारक प्रभाव को हमेशा के लिए खत्म किया जा सकता है। इस पाठ को प्रतिदिन सात बार स्नान के बाद किया जाना चाहिए, लेकिन शुरूआत मंगलवार से करें। उसके बाद लड्डू का भोग लगाते हुए बजरंग बली से शत्रु से मुक्ति की प्रार्थना करें।

लौंग और कपूरः बहुत ही साधारण टोटका लौंग के साथ करें। पांच लौंग लें। उसे कपूर के साथ मिला दें। उसे दैनिक पूजा-पाठ के समय आरती की थाली या छोटे से पात्र में जलाएं। लौंग के जलने के बाद बचे भष्म से घर से बाहर निकलते समय तिलक लगाएं और शत्रु पर जीत की मनोकामना करें। साथ ही गायत्री मंत्र का मन ही मन में पांच बार जाप कर लें। मंत्र हैः- ऊँ भुभुर्व स्व तत्स वितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धी मही धीयो यो न प्रचोदयात स्वाह!!

सात लौंगः दुश्मन के मारक प्रभाव को खत्म करने के लिए सात ही काफी हैं। शनिवार की रात को सात लौंग लें और शत्रु का नाम लेते हुए 21 बार फूंक मारें। दूसरे दिन यानी रविवार की प्रातः उसे जला डालें। उसके बाद यह प्रक्रिया लगतार सात दिनों तक यानी कि अगले रविवार तक दुहराएं। हर दिन लौंग के भस्म होने के साथ-साथ शत्रु की दुश्मनी भी भस्म होती चली जाएगी।

भोजपत्र का प्रयोगः एक भोजपत्र लें। उसके नहीं मिलनेपर पीपल या बरगद के पीले पत्ते का भी उपयोग कर सकते हैं। उसपर लाल चंदन से शत्रु का नाम लिखें और रोल करते हुए मोड़ें। उसे शहद भरी शीशी में डूबाकर रख दें। इस टोटके का प्रभाव शत्रुता कम होने के रूप में कुछ समय बाद ही दिखेगा।

चावल के दानेः शत्रु पर शमन पाने के लिए साबूत चावल के 40 दानों के साथ काली दाल के 38 दानों को मिला दें। उन्हें किसी गड्ढे में दबा दें। उसके ऊपर नींबू का रस निचोड़ डालें। नींबू निचोड़ते समय शत्रु के नाम का स्मरण करें। इससे शत्रु परास्त होकर पराजित हो जाएगा। इस टोटके को मंगलवार या शनिवार को करें

मोर के पंखः एक मोर का पखं लें। उसपर शनिवार या मंगलवार की रात को भगवान हनुमान के सिर पर चढ़े सिंदूर से दुश्मन का नाम लिखें और पूजा के स्थान पर रख दें। अगली सुबह सूर्योदय से पहले स्नान के बाद उसकी पूजा करें और नदी के बहते पानी में प्रवाहित कर दें। इसके प्रवाह के साथ ही शत्रु की शत्रुता प्रवाहित हो जाएगी।

नींबू का प्रयोगः यदि दुश्मन आपको लगातार बाधा डाल रहा हो तब आ नींबू के प्रयोग से उसे शांत कर सकते हैं। सूर्योदय से पहले नींबू को चार हिस्से में काट लें। उन्हें हाथ में लेकर अपने इष्टदेख् को स्मरण करें। उसके बाद गायत्री मेंत्र का 11 बार जाप करें। इसके साथ ही अपने सुखद और शांतिमय दिन गुजरने की कामना करें। प्रार्थना पूरी होने के बाद नींबू के टुकड़े को किसी खुले स्थान पर जाकर चारों दिशाओं में फेंक दें। इस कार्य को लोगों से नजर बचाकर करें।

मंत्र जापः शत्रु द्वारा तंग किए जाने की स्थिति में उसके प्रभाव को मंत्र जाप से खत्म कर सकते हैं। नीचे दिए गए मंत्र को सूर्योदय से पहले श्रद्ध और भक्ति भाव के साथ 108 बार जाप करें और अपने इष्टदेव से शत्रुता के प्रभाव को खत्म करने की मनोकामना करें। यह मंत्र काफी प्रभावशाली असर दिखाता है अैर शत्रु कभी भी दोबार षड्यंत्र नहीं रच पाता है। यहां तक कि वह दोस्ती का हाथ बढ़ा देता है। इसके लिए मां काली की आराधना करनी होती है। मंत्र हैः- नृसिंहाय विद्महे वज्र नखाए धी महि तन्नो नृसिंह प्रचोदयात्!!

स्त्री शत्रुः यदि दुश्मन कोई स्त्री है तो उसकी शत्रुता को सिंदूर, लाल चंदन, कंगनी, छोटी इलायची और ककड़सिंगी से धूप बत्ती बनाकर करें। शत्रु स्त्री के नाम लेते हुए प्रतिदिन प्रातः धूप बत्ती को जलाएं।

यदि आप किसी भी समस्याओं का सामना कर रहे हैं तो बस हमसे संपर्क करें क्योंकि केवल एक कॉल आपका जीवन बदल सकता है!!!

If you need any type of help talks to us without any hesitation. We will solve your problem

Call and Whatsapp Now
+91 9571300113

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s