बिना मंत्र के वशीकरण टोटके


बिना मंत्र के वशीकरण टोटके, वशीकरण करने के लिए हम जानते हैं कि किसी को भी वशीभूत करने के लिए मंत्रों की आवश्यकता होती है जिसे हम स्वयं पढ़ते हैं किसी को वशीकरण करने के लिए या फिर ज्योतिषों या तांत्रिकों की मदद लेते हैं।

बिना मंत्र के वशीकरण टोटके

मगर आज का हमारा विषय बिल्कुल अलग है जिसमें वशीकरण की तो हम बात जरूर करेंगे मगर यहां पर वशीकरण करने का टोटका थोड़ा अलग होगा। हम बिना मंत्रों के किसी को कैसे वशीकरण करेंगे यह आपको आज बताने जा रहे हैं।

उपाय:-

इस उपाय को करने के लिए आपको किसी तांत्रिक के पास जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आप घर पर ही इस टोटके के माध्यम से किसी को भी आसानी से वशीभूत कर लेंगे वह भी बिना किसी मंत्र की सहायता से।

आपके मन में संका उत्पन्न हो रही है न कि यह कैसे संभव हो सकता है ? दोस्तों इस संसार में कुछ भी असंभव नहीं है। संभव- असंभव तो इंसानों द्वारा बनाए गए बातें हैं जो वह अपनी कमजोरियां छूपाने के लिए बोलते हैं। वास्तव में संभवों की इस दुनिया में असंभव कुछ भी नहीं है। कहने का तात्पर्य यह है कि वशीकरण के उपाय जहां पर कुछ लोग मंत्रों से करते हैं वहीं कुछ लोग बिना मंत्रों के ही वशीकरण में सिद्धि हासिल किए हुए हैं। आइए जानें कैसे ?

इस उपाय को करने के लिए आपके पास दो चीज़ों का होना बहुत जरूरी है।‌ पहला इलायची और दूसरा लाल पेन। यह दोनों वस्तु ही आसानी से आपको आपके घर पर मिल जाएगा।

अगर आपसे कोई नाराज है और आपके लाख कोशिशों के बावजूद भी वह व्यक्ति अगर आपसे रूठा हुआ है तो घबराएं नहीं हमारा बिना मंत्रों वाला वशीकरण टोटका आपके काम अवश्य आएगा और वह व्यक्ति अवश्य आपकी बात को सुनेगा जो आपसे किसी कारण ‌वश रूठा हुआ है।

बिना मंत्र के वशीकरण टोटके

ज्यादातर टोटकों को शनिवार के दिन ही किया जाता है। टोटकों में सफलता तब जल्दी मिलती है अगर टोटकों को शनिवार के अर्ध- रात्रि में करेंगे तो। अर्ध-रात्रि में शांति होती है। वातावरण में शोर-शराबे कम होते हैं। ऐसे समय टोटकों को करने से लाभ जल्दी मिलता है।

अब आपको लाल पेन का प्रयोग करना है। आपको अपने बाय हाथ के हथेली पर लाल पेन से उस व्यक्ति का नाम लिखना है अपने दाहिने हाथ से जिसको आप वशीभूत करना चाहते हैं।

नाम को लिखने के बाद आपको उन दो इलायची को आपके बाय हाथ के हथेली पर उस स्थान पर रखना है, जिस स्थान पर आपने उस व्यक्ति का नाम लिखा हुआ है जिसको आप वशीभूत करना चाहते हैं। इलायची को नाम वाले स्थान पर रखकर आप अब कसकर मुट्ठी बांध लिजिए। जब तक आपके हाथों पर पसीना न आ जाए तब तक मुट्ठी बांधे रखिए फिर इलायची को एक लाल कपड़े में बांधकर बहते हुए पानी जैसे—नदी हो या नाला जाकर बहा दिजिए।

बिना मंत्र के वशीकरण टोटके

अगर आप घर – परिवार वाले व्यक्ति हैं। आपके बच्चे हैं जो आपकी बातों को नहीं सुनते हैं। आप उनसे कह-कह कर थक चुके हैं। मगर फिर भी आपके बातों को वह गुरूत्व ही नहीं दे रहें हैं और आप अब परेशान हो गए हैं और उनको सचमुच अपने वश में करना चाहते हैं ताकि उनका भविष्य सुरक्षित हो और वह किसी मुसीबत में पड़ने से पहले बचें तो हम आपको बता दें आप बिना मंत्रों के बिना यंत्रों के अपने बच्चों को वश में कर सकते हैं हमारे टोटकों को अपनाकर। कैसे आगे पढ़िए:-

आपको शुक्ल पक्ष के शनिवार के दि 7 लौंग जिसको अंग्रेजी में Clove कहते हैं उसको लेना होगा और अर्ध रात्रि में उन 7 लौंगों को 21 बार फूंक मारना होगा। लौंग में फूंकने से पहले आपको अपने बच्चे का नाम बोलना होगा उसके बाद ही आपको फूंक मारनी होगी लौंग में इस बात को आप ध्यान में रखें।

उसके बाद आप अगली सुबह उठकर यानी कि रविवार को फूंक मारी गई 7 लौंगों में से एक लौंग को निकाल लिजिए और उस को अग्नि में जलाकर भस्म कर डालिए। इस तरह बाकी के 6 लौंगों को आने वाले 6 रविवार में निकालकर अग्नि में भस्म कर दिजिए।

बिना मंत्र के वशीकरण टोटके

आपको लौंग को भस्म करने के बाद उसके राख को बहते हुए पानी में बहा देना है। ताकि वह किसी के स्पर्श में ना आए इस बात का आपको ध्यान रखना होगा क्योंकि यह आपके बच्चे के जिंदगी का सवाल है।

इस तरह सात रविवार के बीतने के बाद ही आप देखेंगे एक चमत्कार अपने बच्चों के व्यवहार में आप देख पाएंगे की आपका बच्चा आपकी बात मान रहा है। आप जो कह रहे हैं वह वही सुन रहा है इसका अर्थ यह है कि आपने जो लौंग के टोटके किए थे उसका फल आपको मिल रहा है।

इसके अलावा आप जिस किसी का भी वशीकरण करना चाहते हैं यानी कि जिस भी व्यक्ति को वशीभूत करना चाहते हैं उस व्यक्ति को आपको स्मरण करना होगा और अमावस्या की रात्रि को उस व्यक्ति का नाम लेते हुए 7 बार आपको कहना होगा कि वह व्यक्ति मेरे बस में हो जाए।

बिना मंत्र के वशीकरण टोटके

उदाहरण के लिए हम आपको बताते हैं “ मोहन” मेरे वश में हो जाए। मोहन मेरे बस में हो जाए। इस प्रकार जिस भी व्यक्ति को आप को वशीकरण करना है उस व्यक्ति का नाम बोलते हुए इस बात को आप को बोलना होगा वह भी 7 बार। बोल कर आपको सो जाना है अगर आपके सपने में वह व्यक्ति स्वयं आता है तो उसका अर्थ यह है कि आपने उस व्यक्ति को वशीभूत कर लिया है‌।

इस टोटके को करने के वक्त आपका कपड़ा काला बिल्कुल भी नहीं होना चाहिए और समय रात के 12:00 बजे के बाद ही होना चाहिए। जब तक आप को इस टोटके में सफलता ना मिले तब तक आपको इस टोटके के विषय में किसी को भी नहीं बताना है अन्यथा आपका यह टोटका सफल होते-होते रुक जाएगा और आप जिस भी व्यक्ति को वशीभूत करना चाहते थे वह आप से वशीभूत नहीं होगा।

बिना मंत्र के वशीकरण टोटके

सारे बातों को ध्यान में रखकर ही आपको वशीकरण के टोटकों को अपनाना चाहिए। अन्यथा इसका सही परिणाम आपको नहीं मिलेगा। इसलिए बिना गलतियों के टोटकों को करने का प्रयास करें।

यदि आप किसी भी समस्याओं का सामना कर रहे हैं तो बस हमसे संपर्क करें क्योंकि केवल एक कॉल आपका जीवन बदल सकता है!!!

पति पत्नी में प्रेम बढ़ाने के उपाय


पति पत्नी में प्रेम बढ़ाने के उपाय, दुनिया में बहुत कम ही लोग ऐसे होंगे जो प्यार से नहीं रहना चाहते हैं, जो हमेशा अपने चेहरे पर गंभीर भाव को लेकर घूमते हैं और प्रेम का मतलब नहीं समझते हैं।

ऐसे लोग जिंदगी भर ऐसे जीते हैं मानो उनकी जिंदगी जिंदगी नहीं है बल्कि कोई फीकी सी कॉफी है। दोस्तों आज हम आप सब के लिए कुछ ऐसे उपाय लेकर आए हैं जिन उपाय को आप अपने जीवन में अपना कर अपने दांपत्य जीवन को सुखमयी बना सकते हैं।

पति–पत्नी का संपर्क जन्म जन्मांतर का होता है, एक जन्म का नहीं बल्कि सात जन्मों का वचन सात फेरों में लेकर साथ रहने का वादा करते हैं पति एवं पत्नी विवाह के दिन।

दुनिया में शायद बहुत ही कम लोग ऐसे होंगे जो अपने दांपत्य जीवन को बचाने का प्रयास नहीं करते होंगे। हर इंसान अपने दांपत्य जीवन में खुश रहना चाहता है। हर विवाहित व्यक्ति यह चाहता है कि उसका जीवन बेहतर से बेहतर हो और उसका पति अपने जीवन में खुश हो अपनी जिंदगी में तरक्की करें।

पति पत्नी में प्रेम बढ़ाने के उपाय

आज पति पत्नी के बीच के संबंध को कैसे और बेहतर किया जाए कैसे हमेशा हमेशा के लिए सुख की चाबी को ग्रहण किया जाए। इन्हीं सब के विषय में आज हम आपसे चर्चा करने जा रहे हैं और आपको वह उपाय बताने जा रहे हैं जिनको आप रोज अपनी जिंदगी में अपना कर अपने दांपत्य जीवन में खुश रह सकते हैं आइए जानते हैं वह उपाय।

देखिए अगर आप कहेंगे कि मेरा पति या मेरी पत्नी जल्दी नाराज हो जाती है और बात भी नहीं करती है तो हम आपको बता दें कि जब दो बर्तन आपस में भिड़ेंगे तब आवाज तो होगी ही। मगर आवाज ज्यादा होने का मतलब बर्तन का टूट जाने का संकेत होता है। कहने का तात्पर्य यह है कि ज्यादा खिटपिट, ज्यादा गुस्सा पति-पत्नी के संपर्क में अच्छा नहीं होता।

आप चिंता मत किजिए हम जानते हैं कि आप में से बहुत लोग एक खुशहाल जीवन जीने की कल्पना करते हैं। मगर सोच नहीं पाते की कैसे खुशहाल तरीके से रहे।

आज हम आपको वही उपाय बताने जा रहे हैं।

अगर आपके दांपत्य जीवन में कोई प्यार कोई प्रेम नहीं है तो हम आपको बताएंगे वह सरल उपाय जिसको अपनाकर आप खुशी-खुशी अपने दांपत्य जीवन में खुश रह सकते है तो उसके लिए हमारे द्वारा बताया गया पहला उपाय यह है कि आप जब भी गेहूं पिसवाने के लिए चक्की में जाए तो उसके पहले आप गेहूं में 100 ग्राम चना को भी पिसवालों। ऐसा करने से इस तरीके के मिश्रण के आटे का रोटी खाने से पति पत्नी के बीच प्रेम संपर्क बढ़ता है अर्थात कहा जाए तो पति पत्नी के बीच प्रेम संपर्क बढ़ाने का यह बहुत ही उत्तम उपाय है।

आपको गेहूं पीसने का दिन शनिवार या मंगलवार ही चुनना होगा किसी अन्य दिन अगर आप यह उपाय करेंगे तो प्रेम संपर्क नहीं बढ़ेगा या आपके मध्य जो भी मनमोटाव है वह खत्म नहीं होगा। अगर आप चाहते हैं अपने पति अपनी पत्नी को खुश रखना उनसे प्यार का संपर्क और बढ़ाने का तो किसी भी शनिवार या मंगलवार को ही गेहूं पीसवाएं और उसमें १०० ग्राम चना पिसवाना न भूलें।

अगर आप हनुमान जी के बहुत बड़े भक्त हैं और अपने दांपत्य जीवन में खुश रहना चाहते हैं तो आपको हम बता दें कि हनुमान जी का यह मंत्र –“हं हनुमंते नमः” का जाप आपको 21 बार करना होगा। मगर उसस उससे पहले आपको एक सफेद कागज पर अपने पति का पूरा नाम लाल पेन से लिखना पड़ेगा। उसके बाद उस कागज को अपने समक्ष रख कर “हं हनुमंते नमः” का जाप 21 बार बिल्कुल अच्छे से करना होगा।

जब आप का मंत्र जाप पूरा हो जाए तब उस सफेद कागज को मोड़कर घर के किसी ऐसे कोने में रख दीजिए जहां पर किसी की नजर ना पड़े। ऐसा करने से भी दांपत्य जीवन में खुशहाली आती है।

जिस तरह पूजा के समय भगवान के सामने फूल चढ़ाकर उनको प्रसन्न किया जा सकता है। ठीक उसी प्रकार अपने दांपत्य जीवन में खुश रहने के लिए पति पत्नी के बीच प्रेम संपर्कों को बढ़ाने के लिए रंग बिरंगे फूलों से अपने घर आंगन को सजाए इससे आपके दांपत्य जीवन में खुशहाली आएगी।

इतना ही नहीं आप रंग-बिरंगे फूलों के साथ–साथ गेंदे के फूल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। गेंदे का फूल दांपत्य जीवन में खुशहाली जल्दी लाता है इसलिए गेंदे के फूल का ज्यादा से ज्यादा प्रयोग करें।

हम सभी जानते हैं कि भगवान शिव और माता पार्वती का दांपत्य जीवन संसार में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। अगर आप भी खुश रहना चाहते हैं एवं अपने रिश्ते को भी सर्वश्रेष्ठ बनाना चाहते हैं तो आप सोमवार के दिन पति- पत्नी दोनों मिलकर भगवान शिव की उपासना किजिए। शिव चालीसा पढ़िए।

रुद्राभिषेक कीजिए एवं भगवान शिव को धतूरा बेल जैसे फल अर्पित कर उनको प्रसन्न कीजिए। भगवान शिव के संपर्क में कहा जाता है कि वह बहुत जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं। तो हो सकता है आपके द्वारा किया गया यह उपाय देखकर वह भी प्रसन्न हो जाए और आपके दांपत्य जीवन में खुशहाली ला दें आप दोनों के जीवन में।

अगर आप शुक्रवार के दिन भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी को प्रसन्न करते हैं उनको भोग प्रसाद में मिठाई अर्पण करते हैं एवं उस मिठाई को पति पत्नी स्वयं ग्रहण करते हैं तो इससे आपकी जिंदगी में बहार आएगी खुशियां आएगी।

इसके अलावा आप हर गुरुवार के दिन पीपल के वृक्ष के समक्ष एक दिया प्रज्वलित करें एवं किसी पात्र में मिठाई भी उस पर के समक्ष रख कर आए। ऐसा हर गुरुवार को ही करें ताकि आपके दांपत्य जीवन में कभी भी कोई बाधा ना आए कभी भी कोई परेशानी ना आए और आप मृत्यु उपरांत तक खुश रहे।

दोस्तों हम आशा करते हैं कि आपको आज का हमारा यह उपाय बहुत ही पसंद आएगा। अगर आप इन उपायों को अच्छे तरीके से अनुकरण करते हैं और अपने जीवन में अपनाते हैं तो आप हमेशा अपने दांपत्य जीवन में खुश रहेंगे। आप पति-पत्नी के बीच कभी भी कोई दरार कोई मतभेद नहीं होगा और आप हमेशा शांति से रहेंगे।

यदि आप किसी भी समस्याओं का सामना कर रहे हैं तो बस हमसे संपर्क करें क्योंकि केवल एक कॉल आपका जीवन बदल सकता है!!!

कपूर से वशीकरण मंत्र


कपूर से वशीकरण मंत्र, कपूर जिसको हम अंग्रेजी में Camphor भी कहते हैं। क्या आप जानते हैं कि कपूर का प्रयोग वशीकरण करने के लिए भी किया जाता है। जी, हां आपने बिल्कुल ठीक सुना कि कपूर से आसानी से आप किसी को भी वशीभूत कर सकते हैं।

कपूर को ज्योतिषी लोग काफी प्रभावपूर्ण मानते हैं वशीकरण करने के लिए। कपूर को जलाकर हर रोज पूजा करने से जिस तरह घर का वातावरण सुगंधित होता है। ठीक, वैसे ही कपूर का प्रयोग कर आसानी से वशीकरण का कार्य किया जा सकता है।

कपूर से वशीकरण मंत्र

दुनिया में हर इंसान कहीं न कहीं अधूरा होता है और उसका अधूरापन उसको अंदर ही अंदर परेशान कर देता है और जीवन को पूरी तरह से जटिल बना देता है। अगर आप भी अपने जीवन में विभिन्न समस्याओं से जूझ रहे हैं तो हमारे लेख से आपको अपने जीवन में आने वाली हर बाधाओं एवं विघ्न से छुटकारा मिल जाएगा

बस उसके लिए आपको हमारे लेख कपूर से वशीकरण मंत्र को पूरा मन से ध्यानपूर्वक पढ़ना होगा और पढ़ने के बाद वशीकरण के उपाय को अपने जीवन में उतारकर अपने जीवन के समस्त बाधाओं एवं विघ्न को पार करके सफलता के सीढ़ी तक पहुंचना होगा।

उपाय:-

यदि आपके जीवन में कुछ भी अच्छा नहीं हो रहा है और इसका दोष आप अपने भाग्य को दे रहे हैं तो आप अपने भाग्य को वशीभूत करें वह भी हर सुबह नहाने के वक्त अपने नहाने के पानी में कपूर के तेल के कुछ बूंदों को पानी में डालकर नहाएं इससे आपका भाग्य काफी चमकेगा साथ ही आपका भाग्य पर आपका नियंत्रण पर रहेगा।

यदि आपके शादीशुदा जिंदगी में परेशानी बढ़ रही है यानी कि आप अपने पति से या आप अपनी पत्नी से रोजाना झगड़ रहे हैं और रोजाना आपके संसार में झगड़ा हो रहा है तो आप कपूर से को वशीकरण कर सकते हैं और इन झगड़ों से मुक्ति पा सकते हैं।

यदि आप पुरुष हैं तो आप अपनी पत्नी के तकिए के नीचे रात को सोते वक्त कपूर की 3 क्यूबस सको रख दीजिए और यदि आप महिला हैं तो आप अपने पति के तकिए के नीचे रात को सोते वक्त सिंदूर की एक पुड़िया रख दीजिए। जैसे ही रात का अंधेरा समाप्त हो और सूर्य की किरणों के साथ दिन की शुरुआत हो

उसी वक्त उठकर पति अपने पत्नी के तकिए के नीचे से कपूर को उठा ले और उसे अपने सोने के कक्ष में यानी बेडरूम में ही जला दे और पत्नी अपने पति के तकिए के नीचे से सिंदूर की पुड़िया निकाल दे उसे घर से कहीं दूर बाहर फेंक दें जहां पर कोई नहीं जाता है।

कपूर से वशीकरण मंत्र

बहुत लोगों का विवाह नहीं हो रहा है और बार-बार संबंध टूट जा रहे हैं ऐसे समय में आपको बिल्कुल भी निराश नहीं होना क्योंकि कपूर से वशीकरण कर आप अपने विवाह में आ रहे बांधा को वशीभूत कर सकते हैं। बस आपको मां दुर्गा के समक्ष ६-७ कपूर के दुगुना लौंग यानी की १२ लौंग लेना है

और उसमें चावल और हल्दी मिलाकर माता रानी के समक्ष एक छोटा सा हवन करना है और इन चारों के मिश्रण यानी चावल, हल्दी, लौंग एवं कपूर की आहूति देनी है। उस आहूति में ही आपकी सारी चिंता एवं बाधा जलकर राख हो जाएगी।

अगला उपाय यह है कि आप को सर्वप्रथम एक मिट्टी का दिया लेना होगा। उस दिए के भीतरी भाग में उस व्यक्ति का नाम लिखना होगा जिस व्यक्ति को आप वशीकरण करना चाहते हैं ध्यान रखें कि उस व्यक्ति का नाम आपको लाल स्याही से लिखना है ।

जी, हां लाल रंग से आपको उस व्यक्ति का नाम मिट्टी के दीए के भीतरी भाग में लिखना होगा जहां पर आप तेल डाल कर दिए जलाते हैं । इस प्रक्रिया के बाद आपको दिए के बाहरी भाग में अपना नाम लिखना होगा नाम लिखने के बाद आपको दिए के अंदर कपूर का एक क्यूब रखना होगा उसके बाद आपको एक मंत्र बोल कर दिया को जलाना होगा और वो मंत्र है—

ऊं क्रीं (उस व्यक्ति का नाम जिसको आप वशीकरण करना चाहते हैं) मे वशमानय स्वाहा।।

इस मंत्र का जाप करते हुए ही आपको दीप को जलाना है और मंत्र को बिना रूके १००८ बार बोलना है। इस तरह आप इस उपाय को हर‌ शनिवार को संध्या के बाद साफ़ कपड़े पहनकर वशीकरण करने के लिए कर सकते हैं।

कपूर से वशीकरण मंत्र

यदि आप चाहते हैं कि आपको सभी लोग आपके सौभाग्य के लिए जाने मगर आपका सौभाग्य ही खराब है तो घबराएं नहीं क्योंकि आप कपूर के साथ कुछ साबू के दानों को जलाकर अपने सौभाग्य की दशा को ठीक कर सकते हैं। ध्यान रखें कि यह उपाय आपको हर गुरुवार के दिन करना है लगातार ३-४ महीने तक यह वशीकरण उपाय करने से आपका सौभाग्य इस तरह बदलेगा की आप खुद देखकर हैरान रह जाएंगे।

यदि आप यश, प्रसिद्धि एवं बुद्धिजीवियों में अपना नाम शामिल करना चाहते हैं तो आपको हर बुधवार सुबह जल्दी उठकर सारे काम खत्म करके नहा-धोकर हरे रंग का वस्त्र पहनकर आपको घी एवं कांसे की चीज़ का दान करना है। दान-दक्षिणा करने से जीवन में अनेक मुसीबत से मुक्ति मिलती है।

यदि आपको लगता है कि आपके घर में नकारात्मक ऊर्जा विद्यमान हो रही है और आपके घर में किसी की बुरी नजर पड़ी हुई है तो आप इस समस्याओं से मुक्ति पा सकते हैं। उसके लिए यह उपाय है कि आपको रोजाना सुबह उठकर गंगाजल में कपूर को मिलाकर अपने पूरे घर में छिड़कना होगा इससे नकारात्मक ऊर्जा अगर विद्यमान होगी तो वह घर से बाहर हो जाएगी फिर वापस कभी नहीं आएगी और आपके घर में कोई बुरी नजर भी नहीं डालेगा।

कपूर से वशीकरण मंत्र

तुलसी का पौधा तो सभी के घरों में होता है और यदि आपके घर में तुलसी का पौधा नहीं है तो सबसे पहले आप घर में तुलसी का पौधा लगाएं फिर उस तुलसी के पौधे की हर रोज कपूर से ही आरती कीजिए। देखिएगा आप हर तरीके के बाधा से सुरक्षित हो जाएंगे आपके शत्रु आपके वश में होंगे। आपके ऊपर कोई भी समस्या नहीं आएगी और आप खुशी-खुशी अपना जीवन यापन करेंगे।

आशा है आपको यह लेख पसंद आएगा और आप अपने जीवन में यह उपाय अवश्य अपनाएंगे।

यदि आप किसी भी समस्याओं का सामना कर रहे हैं तो बस हमसे संपर्क करें क्योंकि केवल एक कॉल आपका जीवन बदल सकता है!!!

माँ कामाख्या वशीकरण मंत्र – तंत्र साधना


मान्यताओं के अनुसार मां कामाख्या शक्तिपीठ एक अद्भुत शक्ति पिंड है या अत्यंत शक्तिशाली एवं सिद्ध शक्तिपीठ है यहां किया गया हर वशीकरण एवं मंत्र साधना पूर्णता सिद्ध होती है हर व्यक्ति को अपने शत्रुओं को अपने वश में करने के लिए कोई ना कोई प्रयोग करता है वशीकरण इन्हीं प्रयोगों में से एक है वशीकरण करके लोग अपनी इच्छाओं को पूरा कर लेते हैं तथा अपने शत्रुओं को वश में करते हैं तथा अपने प्रेमी जनों या प्रेमिका आदि को भी कामाख्या मां की साधना कर अपने वश में करते हैं।

माँ कामाख्या वशीकरण तंत्र साधना

वशीकरण साधना: १– हर पुरुष चाहता है कि उसकी पत्नी या प्रेमिका उसके वश में हो तथा उसकी समस्त इच्छाओं को पूर्ण करें तथा उसकी हर आज्ञा का पालन करें इसके लिए आपको कमाख्या स्त्री वशीकरण मंत्र का प्रयोग करना चाहिए या अत्यंत शक्तिशाली एवं सिद्धि प्रयोग है एवं या वशीकरण प्रयोग अत्यंत तीव्र प्रभाव वाला है इस प्रयोग को कार्य को करने के लिए आपको किसी रविवार के दिन सुबह सूर्योदय से पूर्व उठकर स्नान कर स्वच्छ वस्त्र धारण कर आसन लगा कर बैठ जाना चाहिए तथा अपने समक्ष मां कामाख्या के चित्र को रखकर उनकी आराधना करनी चाहिए एवं १०८ बार इस मंत्र को दिन से रात तक जप करना चाहिए ऐसा करना से यह मंत्र सिद्ध हो जाता है जिससे आप जिस स्त्री के ऊपर इस मंत्र की फूंक डालेंगे वह आपके वश में हो जाएगी तथा आपकी आज्ञा का पालन करने लगेगी।

मंत्र:-

ॐ नमः कामाख्य: देवी अमुक: वश करि स्वाह:

२– हर स्त्री चाहती है कि उसका पति उसके वश में हो तथा उसकी समस्याओं का पालन करें तथा घर में शांति एवं जीवन में खुशहाली धन संपदा का संचार हो कभी-कभी पुरुष गलत संगत में पड़ कर रास्ता भटक जाते हैं जिस कारण घर में अशांति प्रेम की कमी एवं गृह कलह आदि होने लगते हैं इसके लिए स्त्री को गोरोचन तथा अपने शरीर का महल को केले के रस में मिलाकर टीका लगाना चाहिए ऐसे करने से आपका पति आपके बस में हो जाएगा तथा आपके समस्त इच्छाओं का पालन करेगा एवं इस समय इस मंत्र का १०८ बार मन में जप करते रहना चाहिए।

मंत्र:-

ॐ नमोह: महापाक्षिणी पति में वश्य: कुरु कुरु स्वाह:

कामाख्या वशीकरण साधना:-

कामाख्या देवी ५१ शक्तिपीठों में सबसे शक्तिशाली पीठ है इस मंदिर जो सिंदूर प्राप्त होता है तथा जो जातक इस मंत्र का प्रयोग करता है उस पर मां की कृपा हमेशा बनी रहती है तथा इसके द्वारा वशीकरण ग्रह कलेश व्यापार प्रेम की समस्या विवाह की समस्याएं एवं गृह कलह आदि समस्याओं का निवारण हो जाता है यह अत्यंत शक्तिशाली एवं सिद्ध प्रयोगों में से एक प्रयोग है।

कामाख्या सिंदूर प्रयोग:-

यह मंत्र अत्यंत शक्तिशाली मंत्र प्रयोग है इसके द्वारा जातक के सभी कार्य सिद्ध हो जाते हैं इसके लिए आपको सूर्योदय के पूर्व स्नान कर लाल वस्त्र धारण कर लाल आसन लगा कर बैठ जाना चाहिए तथा मन को शांत करके मां कामाख्या की विधि पूर्वक पूजा करनी चाहिए तथा चांदी के बर्तन में यह किसी चांदी की डिब्बी में सिंदूर को रखकर मां के प्रतिमा के समक्ष १०८ बार मंत्र का उच्चारण करना चाहिए इस क्रिया को आपको शुक्रवार के दिन करना चाहिए यह साधना शुक्रवार के दिन श्रेष्ठ मानी जाती है तथा उत्तम फल देने वाली होती है एवं इस साधना को लगातार ७ दिनों तक करना चाहिए इस साधना में मंत्रों द्वारा सिंदूर अभिमंत्रित किया जाता है तत्पश्चात सिंदूर को हथेली में लेकर गंगाजल केसर चंदन मिलाकर मंत्र को पढ़कर उच्चारण करते हुए अपने मस्तक में तिलक करना चाहिए जिससे आपके अंदर एक अद्भुत शक्ति का संचार होगा तथा आपको देखने वाला हर व्यक्ति आप पर मोहित हो जाएगा एवं आप से वशीभूत होकर आपके समस्त इच्छाओं को पूर्ण करेगा साधना अत्यंत प्रभाव वाली होती है एवं यह सिंदूर मंत्र प्रयोग के बाद सम्मोहन शक्ति से युक्त होकर किसी भी स्त्री या पुरुष को वशीभूत करने के लिए उपयुक्त माना गया है पर ध्यान रहे यह साधना करने के लिए आपके मन में माता के प्रति विश्वास एवं आस्था का होना आवश्यक है।

मंत्र

कामाख्या कामसम्पन्ना कमेस्वरी हरिप्रिया

कामना देहि नित्य कमेस्वरी नमोस्तुते

मां कामाख्या तंत्र साधना

मां कामाख्या का शाबर मंत्र अत्यंत शक्तिशाली मंत्र होता है तथा यह अत्यंत तीव्र प्रभाव वाला होता है इसके द्वारा किसी भी स्त्री या पुरुष को वशीभूत करके अपने कार्य को सिद्ध किया जा सकता है एवं उसके द्वारा अपनी समस्त इच्छाओं की पूर्ति कराई जा सकती है इस मंत्र का प्रयोग अपने शत्रु को हानि या द्वेष की भावना से नहीं किया जाना चाहिए ऐसा करने से यह मंत्र साधना सिद्ध नहीं होती है अपितु उसके आपको दुष्परिणाम प्राप्त हो सकते हैं मां कामाख्या का साबर मंत्र अत्यंत तीव्र प्रभाव वाला होता है इस इस मंत्र की सिद्धि पूर्ण करने वाला व्यक्ति कभी खाली हाथ नहीं रहता तथा उसकी कोई भी इच्छा यह मनोइच्छा बाकी नहीं रहती मां कामाख्या उसकी समस्त इच्छाओं को पूर्ण कर देती है।

मां कामाख्या शाबर मंत्र प्रयोग

मां कामाख्या शाबर मंत्र की साधना की शुरुआत के लिए शनिवार के दिन को उत्तम माना गया है इसके लिए आपको किसी शनिवार के दिन सुबह सूर्योदय से पूर्व उठकर स्नान कर स्वच्छ वस्त्र धारण कर पूर्व दिशा की ओर मुख्य कारण सफेद आसन में बैठ जाना चाहिए या जब क्रिया निरंतर ४१ दिन लगातार करनी चाहिए यह साधना करते समय साधक को अपना आसन नहीं छोड़ना चाहिए अर्थात साधक को आसन में ही सोना चाहिए और वहां पर ही खाना चाहिए मातृ पितृ क्रियाओं के लिए आसन छोड़ सकते हैं इस मंत्र को १०४४ बार जप कर मां की विधि पूर्वक पूजा करनी चाहिए तत्पश्चात दीप धूप नावेद आदि से मां की आराधना करनी चाहिए एवं मां को शराब का भोग लगाना चाहिए तथा फूल अर्पित कर मां के समक्ष अपनी इच्छाओं को रखना चाहिए तथा मां के चरणों में पड़े फूल उठाकर अपने पास रख लेना चाहिए यह फूल अत्यंत तीव्र प्रभा वाले होते हैं इस फूल को आप जिस भी स्त्री या पुरुष को देंगे वह आपके वश में हो जाएगा तथा आपकी समस्त इच्छाओं को पूर्ण करेगा।

मंत्र :-

कामाख्य: देश कामाख्य: देवी, बसे जहां इस्माइल: जोगी

इस्माइल: जोगी ने लगाई फुलवारि, फूल: तोडे लोना चमारी

जे इस फूल को सूंघें वाश , तिस का मन: रहे हमारे पास

महल: छोड़े घर छोड़े आँगन छोड़े , लोक कुटुम्ब की लजाय: छोड़े

दुहाई लेना चमारी की , धन्वन्तरि की दुहाई फिरै

यदि आप किसी भी समस्याओं का सामना कर रहे हैं तो बस हमसे संपर्क करें क्योंकि केवल एक कॉल आपका जीवन बदल सकता है!!!

मनचाहा वर पाने के उपाय


जीवन की यात्रा बहुत ही सहज और सरल हो जाती है जब मनचाहा साथी आपके साथ हो | हर कोई चाहता है कि कोई ऐसा हाथ आपका हाथ थामे जो आपकी हर भावना को समझे , दर्द को पहचाने और मुस्कान को हवा दे | इस ख्वाहिश की पूर्ति के लिए वह आजमाने लगते हैं मनचाहा जीवनसाथी पाने के उपाय और टोटक | तो चलिए आज इस कड़ी में हम लेकर आए हैं आपके लिए मनचाहा जीवनसाथी पाने के उपाय | ये उपाय हैं –

मनचाहा वर अच्छा पति पाने के उपाय
१) मनचाहा जीवनसाथी पाने की कामना करने वाले को पीले वस्त्र और पाँच इलायची हर बृहस्पतिवार को सुबह- सुबह किसी दरिद्र नारायण को दान में देना चाहिए |

२) अच्छा पति पाने के लिए लड़की को शिव- पार्वती का की पूजा करनी चाहिए | इसके लिए उसे प्रत्येक दिन बेलपत्र, चावल और कुमकुम इत्यादि शिवलिंग पर चढ़ाकर विधि विधान से पूजा करनी चाहिए |

३) मनचाहा वर पाने के लिए–” क्लीं कृष्णाय गोविंदाय गोपीजन वल्लभाय स्वाहा” इस मन्त्र का जाप करे प्रतिदिन १०८ बार |

४) ” तो भगवानु सकल उर बासी | करिहि मोही रघुबीर कै दासी ||

जेहिं के जेहिं पर सत्य सनेहू | सो तेहि मिलइ न कछु संदेहू || “ रामचरितमानस का यह दोहा मनचाहा और अच्छा पति पाने के उपाय में बहुत ही प्रभावी है |

५) रामचरितमानस का एक अन्य दोहा है–

”जय जय गिरिवरराज किशोरी | जय महेश मुख चंद्र चकोरी ||

जय गजबदन षडानन माता | जगत जननी दामिनी दुखी गाता ||

नहिं तब आदि मध्य अवसाना | अमित प्रभाउ बेदु नहीं जाना ||

भव भव विभव पराभव कारिनी | विस्व बिमोहिनि स्वबस बिहारिनी ||

सेवत तोहि सुलभ फल चारी | बरदायनी पुरारी पिआरी ||

देवी पूजी पद कमल तुम्हारे | सुर नर मुनि सब होहिं सुखारे ||

मोर मनोरथु जानहु नींके | बसहु सदा उर पुर सबही कें ||”

प्रातः काल सुबह नित्यकर्म से निवृत होकर सबसे पहले मां पार्वती को पूजे सफेद वस्त्र पहन कर | इसके बाद कुश का आसन बिछा एकांत में | इसके ऊपर बैठकर ऊपर दिए गए श्लोक को जपे | जपते समय चंदन के मोती से बनी माला का व्यवहार करे | स्तुति का प्रतिदिन जाप करें एक माला |

६) ”ओम श्री कृष्णाय नम:.. सुंदर साथी पाने की प्रवृत्ति वाली युवती के लिए एक अत्यन्त सरल, उपयोगी एंव प्रभावशाली मंत्र | १०८ बार हर दिन इस मंत्र का जाप करना चाहिए | जप के समय राधा-माधव की मूर्ति या जोड़ी का चित्र अपने सामने रखकर इस मंत्र का जाप करें |

७) ”ओम लक्ष्मी नारायण नमः”.. मनचाहा जीवनसाथी पानी का एक अन्यतम जाप है | इस मंत्र का जाप शुक्ल पक्ष में में आने वाले गुरूवार को प्रारम्भ करे | लगातार तीन महीने तक हर गुरुवार को इस मन्त्र का जाप करने से निश्चित ही मनचाहे जीवनसाथी की प्राप्ति होगी | इस मंत्र का जाप प्रतिदिन करें १०८ बार |

८) ” महामाये महायोगिन्यधीश्वरि | नंदगोप सुतम् देवी पतिं में कुरुते नमः ||” सुंदर पति पाने के लिए कन्या मां दुर्गा के इस मंत्र का जाप करें | जाप संख्या होनी चाहिए प्रतिदिन १०८ मंत्र | लगातार २१ दिनों तक इस मंत्र का जाप करने से मनचाहे फल की प्राप्ति होती है | जाप के पश्चात इसी मंत्र में ‘स्वाहा’ शब्द जोड़कर मंत्र के अंत में आहुति दें | आहुति ११ बार शक्कर और शुद्ध धी से बने हुए धूप से दे | विशेष ध्यान रहे -मंत्र जपने का समय, स्थान तथा आसन हर दिन एक ही होना चाहिए |

९) ”ॐ नमो मोहिनी महा मोहिनी अमृत वासिनी स्वाहा”.. इस मंत्र का जाप भी प्रतिदिन किया जा सकता है | जाप संख्या होनी चाहिए १०८ मंत्र | सुंदर पति पाने के उपाय / मंत्र में यह एक उत्तम मंत्र है |

१०) अत्यंत श्रेष्ठ और सुंदर पति पाने के लिए इंद्रायणी देवी के इस मंत्र का जाप करें प्रतिदिन | मंत्र है- “ॐ देवेंद्राणी विवाहं भाग्यमारोग्यं देहि में “ |

११) अच्छा पति पाने के उपाय में एक अन्यतम उपाय है –सफेद रंग के खरगोश को पाले कन्या और प्रतिदिन उसको कुछ खाद्य पदार्थ खाने के लिए अपने हाथ से दे |

१२) १०८ फेरी ( परिक्रमा ) दे वटवृक्ष की पूर्णिमा वाले दिन | यह उपाय सुंदर पति पाने के उपाय में एक अत्यंत ही सरल उपाय है | १३) बृहस्पतिवार के दिन केले के पेड़ पर जल चढ़ाएं | उसके बाद दीपक जलाए शुद्ध घी से और उच्चारण करें गुरु के नाम का १०८ बार | ऐसा करने से मनचाहा जीवन साथी की प्रार्ति होगी |

१३) अच्छा और सुंदर पति पाने के लिए कन्या सोलह सोमवार का व्रत भी कर सकती हैं | इस व्रत में लगातार १६ सोमवार तक शिवजी की पूजा करनी चाहिए | पूजा में शिवलिंग पर दूध, बेलपत्र से अभिषेक कर धूप-दीप से पूजा करें |

१४) शहद से रुद्राभिषेक करें रुद्र ( शंकर) भगवान का | इससे आपको अपना मनचाहा जीवनसाथी मिलेगा |

१५) माता पार्वती को चुनरी के साथ सोलह श्रृंगार के समान अर्पण करें तथा मोली बांधे और माता से अपने लिए अच्छा पति मिलने की प्रार्थना करें | अवश्य पूर्ण होगी |

१६) मनचाहा वर पाने के टोटके में आप यह भी अपना सकते हैं ..नवरात्रि के समय शुक्रवार के दिन माला ले गुलाब के पुष्पों की | पुष्पों की संख्या होनी चाहिए २७ पुष्प | अब इस माला को मां अंबे को अर्पित करें कुछ दक्षिणा के साथ |

१७) नवरात्रि के समय में सोलह श्रृगार की सामग्री के साथ लाल गुलाब के फूल और इत्र चढ़ाए मां को और नव दुर्गा ( ९ बाल- कन्या) को खाना खिलाकर दक्षिणा दें तथा साथ साथ उनको मेहंदी भी दें |

१८) १३ दिनों तक लगातार बिना नागा के लड़की अगर जल चढ़ाए पीपल के वृक्ष पर तो उसे मनचाहे पति की प्राप्ति होती है |

१९) गणगोर का पूजन और व्रत रखने से भी मनचाहा वर की प्राप्ति होती है |

२०) पीले रंग के कपड़े में बांधे जड़ (केले की) को नवरात्रि में पड़ने वाले किसी भी गुरुवार को | अब इसे अपने गले में पहन ले | इसे धारण करके रखें १६ दिनों तक | इससे आपको अति शीघ्र ही अपना मनपसंद जीवनसाथी की प्राप्ति होगी |

२१) अपनी उम्र की संख्या के बराबर बिल्वपत्र लें | इन पर इत्र लगाएं तथा शिवलिंग पर अर्पित करें “ओम नमो शिव” का उच्चारण करते हुए | साथ में पाठ करें शिव चालीसा का | यह क्रिया नवरात्रि को पड़ने वाले सोमवार के दिन करे |

यदि आप किसी भी समस्याओं का सामना कर रहे हैं तो बस हमसे संपर्क करें क्योंकि केवल एक कॉल आपका जीवन बदल सकता है!!!